breaking news

Property

आर्थिक उन्नति व बौद्धिक प्रगति के लिए बौद्धिक संपदा की सुरक्षा जरूरीः दिनेश कुमार

फरीदाबाद, 23 जनवरी - बौद्धिक संपदा अधिकारों के महत्व को लेकर जागरूकता लाने के दृष्टिगत जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद के कंप्यूटर इंजीनियरिंग विभाग द्वारा आज फरीदाबाद के स्टार्ट-अप और लघु एवं मध्यम उद्यमों के लिए एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का आयोजन हरियाणा राज्य विज्ञान और प्रौद्योगिकी परिषद के पेटेंट सूचना केंद्र के तत्वावधान में किया गया, जिसका मुख्य उद्देश्य पेटेंट फाइलिंग प्रक्रिया और इसके विभिन्न पहलुओं के बारे में जागरूकता बढ़ाना था। कार्यशाला में इंटीग्रेटेड एसोसिएशन ऑफ माइक्रो, स्मॉल, मीडियम एंटरप्राइजेज ऑफ इंडिया के चेयरमैन श्री राजीव चावला मुख्य अतिथि तथा मुख्य वक्ता रहे। सत्र की अध्यक्षता अध्यक्षता कुलसचिव डॉ. एस.के. गर्ग ने की। इस अवसर पर कंप्यूटर इंजीनियरिंग विभाग के अध्यक्ष डॉ. कोमल कुमार भाटिया और कंप्यूटर अनुप्रयोग विभाग के अध्यक्ष डॉ. अतुल मिश्रा भी उपस्थित थे। कार्यशाला का समन्वयन डॉ. पारुल तोमर और डॉ. रश्मि पोपली ने किया। कार्यशाला में विश्वविद्यालयों के विद्यार्थियों तथा लघु एवं मध्यम उद्यमों से जुड़े प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।